208 पारियों में 86 बार पचास का आकड़ा पार करने वाला बल्लेबाज क्या ओवररेटेड है?

नई दिल्ली। भारत में या दुनिया के किसी भी कोने में किसी भी शख्स को किसी भी क्रिकेटर या सेलिब्रिटी को पसंद करने की आजादी है। भारतीय क्रिकेट प्रशंसकों को भी यह आजादी है। पर अगर क्रिकेट प्रशंसक को हर तरह की आजादी है तो क्या क्रिकेट खिलाड़ी को कोई आजादी नहीं है। वह अपने आप पर तंज कसे जाने पर खुद के बचाव में कुछ बोल भी नहीं सकता। प्रशंसक स्टैंड में बैठकर खिलाड़ियों को गालियां दे सकते हैं और मनचाही फ्रीक्वेंसी से चिल्ला सकते हैं। पर खिलाड़ी ऐसा करता है तो वह सभ्य नहीं दिखता, वह राहुल द्रविड़ और सचिन तेंदुलकर नहीं बन सकता। अगर खिलाड़ी नेशनल आइकन है और उसको संभलकर व्यवहार करना चाहिए तो क्या प्रशंसक को उस नेशनल आइकन की इज्जत नहीं करनी चाहिए। देश में यह मुद्दा गरमाया हुआ है और सोशल मीडिया ट्रोलर्स ने अपना पक्ष और विपक्ष चुन लिया है। इसके चलते विराट सैकड़ों रन बनाकर भी प्रशंसकों की अभद्रता का निशाना बन रहे हैं।

क्या है पूरा मामला-
कोहली ने सोमवार को अपने 30वें जन्मदिन पर ‘विराट कोहली ऑफिसियल ऐप’ लांच किया था। इसी मौके पर सोशल मीडिया पर बातचीत के दौरान एक प्रशंसक ने लिखा कि “वह (विराट) एक क्षमता से बढ़ाकर आंका गया बल्लेबाज (ओवर रेटेड बैट्समैन) हैं। मुझे उनकी बल्लेबाजी में कुछ भी खास नहीं दिखता। मैं इन भारतीयों की तुलना में इंग्लैंड और आस्ट्रेलियाई बल्लेबाजों को देखना पसंद करता हूं।” इसपर कोहली ने कोहली ने कहा था कि वह आलोचनाओं से निजी तौर पर प्रभावित नहीं होते हैं। लेकिन भारत में रहते हुए यदि कोई भारतीय खिलाड़ियों को पसंद नहीं करता है तो उन्हें देश में नहीं रहना चाहिए। विराट का यह बयान आप्पतिजनक है, लेकिन कोहली को ओवररेटेड बल्लेबाज बताना और भारतीय बल्लेबाजों को नीचा दिखाना कोई अच्छी चीज नहीं है।

क्या कोहली ओवररेटेड बल्लेबाज हैं-
विराट कोहली ? ओवररेटेड बल्लेबाज हैं ये असहिष्णुता की पराकष्ठा है। विराट इस समय विश्व के सबसे भरोसेमंद और उम्दा बल्लेबाज है। उनकी रैंकिंग, उनके रन और उनके इन रनों को बनाने की गति इस बात की गवाही देती है। विराट का अगर ODI रिकॉर्ड देखें तो वह 208 पारियों में 86 दफा 50 रन से ऊपर बनाने में कामयाब रहे हैं। इन 86 मौकों में वह 38 बार 100 का आकड़ा पार करने में कामयाब रहे हैं। विराट का ODI औसत(59.83) दुनिया के किसी भी बल्लेबाज से कहीं बेहतर है। वह ODI और टेस्ट रैंकिंग में दुनिया के नंबर-1 बल्लेबाज हैं और हर व्यक्ति इस बात से सहमत होगा कि इससे बेहतर नहीं हुआ जा सकता।

Source :

Patrika : India’s Leading Hindi News Portal

read more

Categories: AllCricketRajasthan