संन्यास: धोनी खुद लेंगे फैसला या चयनकर्ताओं को होना पड़ेगा मजबूर

नई दिल्ली। आज आखिरी मौका! क्या महेंद्र सिंह धोनी एक बार फिर फेल होंगे और टीम में बने रहेंगे। यह सिलसिला पिछले 20 ODI मैचों का है जहां धोनी एक भी अर्धशतक लगाने में नाकामयाब रहे हैं। दिग्गज विकेटकीपर बल्लेबाज धोनी अपना मिडास टच खोते नजर आ रहे हैं और जबसे चयनकर्ताओं ने उन्हें T20 टीम से बाहर किया है तबसे उनके करियर को लेकर सवाल उठने भी शुरू हो गए हैं। हालांकि चयनकर्ता उनको वर्ल्ड कप में खिलाने के पक्ष में कई बार बोल चुके हैं, पर क्या लगातार फेल होने पर भी उनको टीम में मौका मिलना घरेलु क्रिकेट में रनों का अम्बार लगा रहे क्रिकेटरों पर नाइंसाफी नहीं होगी।आइये एक नजर डालते हैं धोनी के गिरते हुए प्रदर्शन पर जोकि वर्ल्ड कप में भारत के लिए सबसे बड़ी चिंता बन सकती है।

पिछले 20 ODI में धोनी का प्रदर्शन-
पूर्व कप्तान धोनी इस समय अपने प्रदर्शन से भारतीय टीम की चिंताओं को बढ़ा रहे हैं। वह फॉर्म में नहीं हैं इस कारण नंबर 4 की समस्या भी उजागर हो रही है।धोनी ने पिछले 20 ODI मुकाबलों में एक भी अर्धशतक नहीं जड़ा है। इन मैचों में वह 7 बार बल्लेबाजी करने नहीं उतरे हैं और वह दो मैचों में नाबाद भी रहे हैं। वह पिछले 20 ODI मैचों में 23.5 की साधारण औसत से केवल 259 रन ही बना पाए हैं। इसमें उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 42 रनों का रहा है। उन्होंने आखिरी अर्धशतक(65) श्रीलंका के खिलाफ दिसंबर 2017 में लगाया था। पिछले 30 वनडे मैचों में उनके बल्ले से केवल 2 फिफ्टी निकली हैं।

T20 टीम से निकाल चयनकर्ताओं ने दे दिया सन्देश-
आईपीएल 2018 में धोनी ने रनों का अंबार जरूर लगाया था लेकिन उसके बाद से ही वह लगातार फेल हो रहे हैं जिसके चलते उनकी पर्मानेंट वनडे की सीट पर भी सवाल खड़े हो गए हैं। धोनी का प्रदर्शन अगर ऐसा ही रहा तो हो सकता है कि उन्हें 2019 वर्ल्ड कप खेलने का भी मौका न मिले। सेलेक्टर्स ने टी20 टीम से धोनी की छुट्टी करके यह साफ कर दिया है कि अब वे अपना प्रदर्शन जल्दी ही सुधार लें वरना वनडे टीम से भी उन्हें बाहर किया जा सकता है। अगर ऐसा हुआ तो 2019 वर्ल्ड कप में उनके खेलने के मौकों को तगड़ा झटका लगेगा।

आज आखिरी मौका!-
भारत-वेस्टइंडीज ODI सीरीज का आज चौथा मुकाबला मुंबई में खेला जाना है। इस मैच से पहले धोनी जमकर पसीना बहा रहे हैं। धोनी इस सीरीज में दो बार बल्लेबाजी करने उतरे हैं जिसमे एक बार उन्होंने 20 रन और एक बार 7 रन बनाए हैं। इस मैच में अगर धोनी नाकामयाब रहते हैं तो उनके करियर और वर्ल्ड कप में खेलने को लेकर कई तरह के सवाल उठने लाजमी हैं। 37 साल के धोनी 330 ODI पुराने हो चुके हैं और टीम को उनसे वर्ल्ड कप में खासी उम्मीदें हैं।

Source :

Patrika : India’s Leading Hindi News Portal

read more

Categories: AllCricketRajasthan