बॉल टैम्परिंग मामले में आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान ने ICC पर लगाया गंभीर आरोप

नई दिल्ली। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ बॉल टैम्परिंग के मामले में आस्ट्रेलिया क्रिकेट जगत की छवि पर दाग लगा दी थी और इस कारण आस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों की आलोचनाएं भी हुई थीं। इस मामले पर अब आस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान स्टीव वॉ के बयान के बाद एक नया मोड़ आ गया है। वॉ का कहना है कि अधिकारियों की ओर से हुई ढील के कारण बॉल टैम्परिंग ने इतना बड़ा रूप लिया है।

ढील के कारण हुई यह घटना
वेबसाइट ‘ईएसपीएन’ की रिपोर्ट के अनुसार, वॉ का कहना है कि बीते समय में बॉल टैम्परिंग की घटनाओं पर अधिकारियों द्वारा सख्त रूप से कदम न उठाए जाने के कारण खिलाड़ियों को इतनी छूट मिली। इसके साथ ही उन्होंने आस्ट्रेलियाई खिलाड़ियों द्वारा बॉल टैम्परिंग के कृत्य को बेवकूफी और हास्यास्पद करार दिया। वॉ ने कहा, “ऐसा करना शर्मनाक है लेकिन मेरा मानना है कि अधिकारियों की ओर से दी गई ढील के कारण यह घटना हुई। बीते समय में कई कप्तान ऐसे रहे हैं, जिन्होंने बॉल टैम्परिंग की है लेकिन उन्हें बेहद कम सजा मिलती थी। ऐसे में किसी भी छोटी गलती में कोई सजा नहीं दी जाती थी। इसी ढील और आजादी के कारण बॉल टैम्परिंग जैसा मुद्दा नियंत्रण के बाहर हो गया।”

क्रिकेट आस्ट्रेलिया की छवि पर लगा दाग
दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए मैच के दौरान आस्ट्रेलिया के कप्तान स्टीव स्मिथ, उप-कप्तान डेविड वॉर्नर और गेंदबाज कैमरून बेंक्रॉफ्ट ने सैंड पेपर का इस्तेमाल कर गेंद के साथ छेड़छाड़ की कोशिश की थी। बॉल टैम्परिंग के लिए स्मिथ और वॉर्नर पर एक-एक साल का प्रतिबंध लगाया गया था, वहीं बेंक्रॉफ्ट पर नौ माह का प्रतिबंध लगाया गया। आस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों द्वारा की गई बॉल टैम्परिंग की हरकत को बेवकूफी और हास्यास्पद करार देते हुए वॉ ने कहा, “आस्ट्रेलिया के खिलाड़ियों ने इस हरकत के कारण पिछले कुछ वर्षो में बने वातावरण में वास्तविकता से साथ अपना संपर्क खो दिया। इस कारण पूरे क्रिकेट आस्ट्रेलिया की छवि पर दाग लग गया। स्मिथ ने कहा कि वह इस गलती को नहीं दोहराएंगे, लेकिन उन्हें नहीं पता कि उन्होंने कितनी बड़ी गलती की है। इसी गलती के कारण एक व्यक्ति की उनके प्रति असल सोच के साथ स्मिथ ने अपना संपर्क खो दिया।”

Source :

Patrika : India’s Leading Hindi News Portal

read more

Categories: AllCricketRajasthan