डीजे या बैंडबाजा बजा तो निकाह नहीं पढ़ाएंगे काजी, बैठक में फैसला

शरीयत का हवाला देकर एक बार फिर शादी समारोह उलमा के निशाने पर हैं।

Source : Jagran Hindi News – news:national
read more

Categories: AllUttar Pradesh