टीम इंडिया के चयन पर घमासान, केदार जाधव का चयनकर्ताओं से सवाल- ‘आखिर हमसे खता क्या हुई’

नई दिल्ली। भारतीय चयनकर्ताओं ने भारत-वेस्टइंडीज के बीच होने वाली 5 ODI मैचों की सीरीज में बचे हुए 3 मैचों के लिए भारतीय टीम का ऐलान कर दिया है। सभी यह आस लगाए बैठे थे कि रोटेशन पॉलिसी के तहत कई बदलाव किए जाएंगे, पर चयन समिति ने सभी को चौकते हुए केवल एक तेज गेंदबाज को बाहर किया और दो तेज गेंदबाजों को टीम के साथ जोड़ा। जिन नामों की टीम के साथ जुड़ने की सम्भावना थी उसमे एक नाम हरफनमौला खिलाड़ी केदार जाधव का भी था। जाधव अभी देवधर ट्रॉफी में खेल रहे हैं और उन्होंने टीम में जगह न मिलने पर हैरानी जताई है।

कल वापसी के बाद खेला था पहला मैच-
एशिया कप 2018 के फाइनल मैच के दौरान केदार जाधव के मांसपेशियों में खिचाव आ गया था जिस कारण वह रिहैब में भेज दिए गए थे। कल(गुरूवार) देवधर ट्रॉफी में इंडिया ‘ए’ और इंडिया ‘सी’ के मैच के पहले केदार वार्म-अप करते नजर आ रहे थे। एशिया कप के बाद कल उनका पहला मैच था और उन्होंने इस मैच में इंडिया ‘ए’ के लिए 25 गेंदों में नाबाद 41 रनों की तेज तर्रार पारी भी खेली। हलाकि उनकी टीम यह मैच जीत नहीं सकी।

नहीं हुआ भारतीय टीम में चयन-
चयनकर्ताओं ने गुरूवार की शाम को बचे हुए 3 ODI मैचों के के लिए टीम की घोषणा की। नवघोषित भारतीय टीम में तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह और भुवनेश्वर कुमार को वापस बुलाया गया है। मोहम्मद शमी टीम से बाहर किए गए एकमात्र खिलाड़ी हैं। हरफनमौला खिलाड़ी केदार के लिए गुरूवार का दिन अच्छा प्रद्रशन करने के बाद भी ख़राब हो गया क्योंकि उनको वेस्टइंडीज के खिलाफ बचे हुए 3 ODI मैचों के लिए टीम में नहीं चुना गया था। टीम का ऐलान तब हुआ जब वह इंडिया ‘सी’ की बैटिंग के दौरान फील्डिंग कर रहे थे ।

टीम में चयन नहीं होने पर हुआ आश्चर्य-
उन्होंने टीम में चयन नहीं होने पर आश्चर्य प्रकट करते हुए कहा कि “मुझे देखना पड़ेगा कि मेरा टीम में चयन क्यों नहीं किया गया। मैंने सभी टेस्ट पास किए हैं और इसी कारण मैं आज का मैच खेल पाया। मैं मैच फिट हूं। जबतक आप सभी टेस्ट पास नहीं कर लेते, आपको किसी भी मैच के लिए नहीं चुने जाते और मैं फिट था इसी कारण चयनकर्ताओं ने मुझे देवधर ट्रॉफी के लिए चुना। अगर मैं भारतीय टीम में नहीं होता हूं तो मैं रणजी ट्रॉफी में खेलने पर ध्यान दूंगा।”

चयनकर्ताओं ने जाधव से नहीं किया संपर्क-
चयनकर्ता केदार जाधव को बिना मैच खिलाए भारतीय टीम में शामिल नहीं कर सकते थे। जाधव को बुधवार की शाम को इंडिया ‘ए’ के साथ जुड़ने के लिए कहा गया था, भारतीय टीम का चयन उसी रात को हो गया था। अब यह हो सकता है कि जाधव को चौथे ODI के लिए टीम के साथ जोड़ा जाए। किसी भी प्रकार के भ्रम से बचा जा सकता था, अगर फिरोजशाह कोटला पर मौजूद तीन चयनकर्ताओं में से किसी ने जाधव से देवधर ट्रॉफी के मैच से पहले बात की होती तो।

खिलाड़ियों-चयनकर्ताओं के बीच संपर्क की कमी-
पिछले कुछ हफ़्तों में यह तीसरा वाकया है जहां खिलाड़ी और चयनकर्ताओं के बीच संपर्क की कमी देखी गयी है। इससे पहले करुण नायर और मुरली विजय के मामले में भी यही हुआ था। हलाकि मुख्य चयनकर्ता MSK प्रसाद ने सफाई देते हुए कहा है कि “हम उनको लेकर जल्दीबाजी नहीं करना चाहते। वह वापसी के बाद बार-बार चोटिल हो जाते हैं। हम उनके स्थिति को जानने के लिए उनको अधिक मैच प्रैक्टिस देना चाहते हैं। हमने सोचा था कि वह देवधर ट्रॉफी में खेलेंगे, लेकिन उनकी टीम को हार का सामना करना पड़ा।” प्रसाद ने आगे जोड़ते हुए कहा कि “वह टीम में वापसी करेंगे। उनकी छमता पर कोई भी सवाल नहीं है। मैं उनसे बात करूंगा और बताऊंगा कि हम उनको कैसे मैनेज करने वाले हैं।”

बार-बार चोट से जूझ रहे हैं केदार-
यह 6 महीनों में दूसरी बार है जब केदार हैमस्ट्रिंग की समस्या से जूझ रहे हैं। वह इस कारण से लगभग पूरे आईपीएल 2018 से बाहर हो गए थे, उनको टूर्नामेंट के पहले मैच के दौरान ही समस्या आई थी। इसके बाद एशिया कप में भी बल्लेबाजी करते वक्त उनको यही दिक्कत आई थी। देवधर ट्रॉफी में खेलने से पहले उन्होंने बेंगलुरु में स्थित NCA में सभी फिटनेस टेस्ट पास किए थे।

Source :

Patrika : India’s Leading Hindi News Portal

read more

Categories: AllCricketRajasthan